Monday, June 8, 2020

ट्विटर से 'भाजपा हटाने' की खबरों को सुनके सिंधिया ने तोड़ी चुप्पी , कहा दुःख की बात है कि आज..

ट्विटर से 'भाजपा हटाने' की खबरों को सुनके सिंधिया ने तोड़ी चुप्पी , कहा दुःख की बात है कि आज..

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में आजा मैं आपके लिए कुछ ऐसी खबर लेकर आए हैं जो आपको अच्छी लगेगी दोस्तों आपको बता दूं कि महाराष्ट्र की राजनीति में उस वक्त भूकंप आ गया था जब मीडिया के सामने यह बात फैली कि पूर्व नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने ट्विटर अकाउंट से भाजपा हटा लिया है उनके ट्विटर अकाउंट पर अब जनसेवक और क्रिकेट प्रेमी ही लिखा गया है


ट्विटर से "भाजपा हटाने " की खबरों को सुनके तोड़ी चुप्पी , कहा दुःख की बात है कि आज..


 इस बात में सबको चौंका दिया था कि ऐसा उन्होंने क्यों किया क्या यह दिग्गज नेता भारतीय जनता पार्टी भाजपा से नाराज हैं या फिर कोई और बात हो गई है आपको बता दूं कि इस बात को पूरी तरह से स्पष्ट नेताओं ज्योतिरादित्य सिंधिया ना खुद अपने मुंह से बताया कि उन्होंने यह क्यों हटाया इस पोस्ट को जरुर पढ़े ताकि आपको यह पूरी जानकारी मिल सके।


झूठी खबरें सच्चाई से कहीं ज्यादा तेज चलती 


दोस्तों आपको बता दूं कि दिग्गज नेताओं ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि झूठी खबरें सच्चाई से कहीं ज्यादा तेज चलती हैं और इन झूठी खबरों से बच के रहना चाहिए दोस्तों ज्योतिरादित्य सिंधिया नहीं अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए कहा कि बड़े दुख की बात है की जो झूठी खबरें होती हैं वह सही से कहीं ज्यादा फैलती है और दोस्तों आपको बता दूं इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया 2-3 ऐसे रेट वेट किए हैं जिनसे यह पता चलता है कि वह भाजपा से कतई नाराज नहीं हूं और वह नाराज नहीं है इस बात का खंडन भी किया

बता दूं ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट करते हुए कहा था कि जब से वह भारतीय जनता पार्टी में है उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर केवल जनसेवक और क्रिकेट प्रेमी ही लिखा था और यह अब तक चलता रहा है

कुछ तो आपको बता दूं कि ज्योतिरादित्य नहीं यह रिट्वीट करने से पहले कहा कि मैं इस बात को खारिज करता हूं कि मैंने अपने ट्विटर अकाउंट से भारतीय जनता पार्टी या भाजपा को हटा दिया है

 उन्होंने महाराष्ट्र में हो रहे उपचुनाव के विधायकों की लिस्ट को जारी किया है बात को खारिज भी कर दिया है उन्होंने यह भी कहा है कि कि जो भी प्रभारी भारतीय जनता पार्टी से उपचुनाव कर रहे हैं उन सबको में बधाई देता हूं कि आप भारतीय जनता पार्टी की जीत को बिल्कुल सुनिश्चित सुनिश्चित करेंगे और भारतीय जनता पार्टी को विजई बनाएंगे।

दोस्तों जो हमने आपको जानकारी दी हैं वह आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं ताकि आपके लिए अच्छी अच्छी खबरें हम लेकर आते रहे।


THANKS DOSTO

चीन की 'धमकी' से डरा जापान ,नही देगा अमेरिका और हांगकांग के मुद्दे पर उनका साथ देखिये पूरी खबर...

चीन की 'धमकी' से डरा जापान ,नही देगा अमेरिका और हांगकांग के मुद्दे पर उनका साथ देखिये पूरी खबर...

चीन की 'धमकी' से डरा जापान ,नही देगा अमेरिका और हांगकांग के मुद्दे पर उनका साथ देखिये पूरी खबर...

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में आज हम आपके लिए देश-विदेश की कुछ ऐसी खबर लेकर आए हैं जिसे पढ़कर आप संतुष्ट हो जाएंगे दोस्तों आपको पता है कि चीन और हांगकांग के मुद्दे में अब जापान शामिल नहीं होगा क्योंकि जापान इसलिए शामिल नहीं होगा चाइना ने कुछ नींदआत्मक पत्र भेजे हैं और जापान को सूचित किया है 

वह इस मुद्दे से दूर रहे। आपको बता दूं चीन में नए राष्ट्रीय कानून को लेकर शब्द रूप से उनके खिलाफ कुछ नींदआत्मक बयानों को जारी किया है जिसे उन्होंने अमेरिका और हांगकांग और इनके साथ अन्य सभी देशों से अलग हो गए हैं और वह अब इस अभियान का हिस्सा नहीं रहे और अधिक जानकारी के लिए अब इस पोस्ट को अंत तक पढ़े ताकि आपको पूरी जानकारी मिल सके।


दोस्तों राइटर के मुताबिक ब्रिटेन अमेरिका और कनाडा ने चीन द्वारा 28 मई को पारित नहीं राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर नींदआत्मक बयान दिया है उन्होंने कहा है कि स्वतंत्रता के लिए खतरा होगा और आपको बता दूं कि उन्होंने यह भी कहा कि यह चीन और ब्रिटिश के 1984 के समझौते को भांग कर देना के समान है इसलिए उन्होंने इसने सुरक्षा कानून को गलत बताया और उसकी निंदा की।

दोस्तों आपको बता दूं कि टोक्यो ने भी चीन के नए सुरक्षा कानून पर अपना बयान जारी किया है और उन्होंने अलग से 28 मई के बाद एक बयान में कहा यह चीन के लिए बड़ी ही गंभीर समस्या उत्पन्न कर सकता है जिससे उनको काफी नुकसान भी हो सकता है

हांगकांग की स्वतंत्रता खतरे में आ सकती है 

दोस्तों बीजिंग ने भी चाइना को यह कहा है कि इससे हांगकांग की स्वतंत्रता खतरे में आ सकती है चाइना के लिए इसने सुरक्षा कानून पर अभियान करना बहुत ही समस्या की बात है परंतु अब बीजिंग ने इस अभियान में से अपना नाता तोड़ लिया है और वह भी इससे अलग हो गया है

MUST READ:-15 अगस्त तक आ जायेगा सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट , जल्द ही और इस महीने से होगी स्कूल खोलने की प्रकिर्या चालू...

दोस्तों आपको बता दूं कि चाइना के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने जापान के दौरे पर आना था परंतु क्रोना की वजह से वह स्थगित कर दिया गया है इसलिए जापान ने इस अभियान का हिस्सा बनने से इंकार कर दिया है क्योंकि उनके चाइना के साथ काफी मधुर सम्बन्ध हैं जिससे वह खोना नहीं चाहते इसलिए उन्होंने इस अभियान का हिस्सा बनने से साफ साफ मना कर दिया है और सबसे अलग हो गए हैं दोस्तों क्रोमा की वजह से शी जिनपिंग जापान का दौरा स्थगित कर दिया गया है।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताएं ताकि हम आपको आगे भी ऐसे ऐसे जानकारी देते रहें जो आपको बेहद ही अच्छी लगेंगे


THANKS DOSTO

15 अगस्त तक आ जायेगा सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट , जल्द ही और इस महीने से होगी स्कूल खोलने की प्रकिर्या चालू...

15 अगस्त तक आ जायेगा सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट , जल्द ही और इस महीने से होगी स्कूल खोलने की प्रकिर्या चालू...


हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में आज हम आपको कुछ ऐसी खबरों से रूबरू करने जा रहे हैं जो आपको बेहद ही पसंद आएंगे जो बच्चे हैं खासकर उनको यह खबर ज्यादा ही पसंद आएगा क्योंकि आपको जानकर खुशी होगी कि 15 अगस्त तक सीबीएसई बोर्ड ने ने कहा है कि 15 अगस्त तक 10वीं और 12वीं के नतीजे घोषित किए जाएंगे और जल्द ही स्कूलों को भी ओपन कर दिया जाएगा जैसे सभी बच्चे फिर से स्कूलों में जा सकेंगे और अच्छे से पढ़ाई कर सकेंगे दोस्तों इस पोस्ट को अंत तक पढ़े अगर आपको और ज्यादा जानकारी चाहिए तो।

15 अगस्त तक आ जायेगा सीबीएसई बोर्ड का रिजल्ट , जल्द ही और इस महीने से होगी स्कूल खोलने की प्रकिर्या चालू...
Source by:-zee news
दोस्तों 15 अगस्त तक सीबीएसई बोर्ड के रिजल्ट को घोषित किया जाएगा और 10वीं और 12वीं का रिजल्ट इकट्ठा ना आकर कुछ समय पर आएगा जैसे कि पहले दसवीं का रिजल्ट आ गया उसके बाद 12वीं का रिजल्ट दिया जाएगा इससे इन दोनों रिजल्ट में कुछ अंतराल रहेगा

 आपको बता दूं कि सरकार ने स्कूलों को भी ओपन करने की मांग की है उन्होंने कहा है कि स्कूलों को ओपन करने का फैसला अगस्त तक ताकि क्रोना की जो स्थिति बनी हुई है यह थोड़ी समाप्त हो जाए जिसे आसानी से स्कूलों को ओपन कर पाएंगे परंतु आपको बता दूं कि मानव संसाधन मंत्रालय ने इस पर कुछ भी तारीख नहीं दी है नहीं कोई तारीख निश्चित की है कि स्कूलों को कब तक ओपन किया जाएगा।

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा है कि हम जल्द ही 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित कर देंगे जिससे किसी को कोई भी आपत्ति ना हो और हमने यह फैसला लिया है कि 15 अगस्त तक हम 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित करेंगे और आपको बता दूं कि जो रिजल्ट जून में आने वाला था

 जो परीक्षाएं रह गई थी वह जुलाई में होने वाली थी उन सब का मिलाकर 15 अगस्त तक इससे पहले दसवीं और बारहवीं का नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे इसमें सभी परीक्षाएं शामिल होंगी जो जुलाई में होने वाली है वह भी आएगी

MUST READ:-दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल की तबियत खराब , होगा उनका भी क्रोना टेस्ट देखिये कही उनको तो नही है क्रोना वायरस...

आपको बता दूं कि मानव संसाधन मंत्रालय के रमेश पोखरियाल से पूछा गया कि क्या 15 अगस्त के बाद या उससे पहले स्कूलों को खोलने की प्रक्रिया को चालू किया जाएगा तो उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के बाद ही विश्वविद्यालयों के और अन्य कॉलेजों के नए सेशन आरंभ कर दिए जाएंगे और इसके बाद ही स्कूलों को खोला जाएगा आपको बता दूंगी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बी कहां और पत्र लिखा है मानव संसाधन मंत्रालय की दिल्ली में स्कूलों को कब ओपन किया जाए और इसकी तारीख भी मांगी है।

आपको हमारे द्वारा दी जानकारी में कोई भी आपत्ति हो तो हमें कमेंट करके बताएं ताकि हम उसको आगे सुधार सकें और आप तक सही और स्वच्छ जानकारी भेज सकें।

THANKS DOSTO

दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल की तबियत खराब , होगा उनका भी क्रोना टेस्ट देखिये कही उनको तो नही है क्रोना वायरस...

दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल की तबियत खराब , होगा उनका भी क्रोना टेस्ट देखिये कही उनको तो नही है क्रोना वायरस...

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में उम्मीद करता हूं कि आपको बेहद ताजी पोस्टें मिल रही है जिससे आप पढ़ कर संतुष्टि पा रहे हैं दोस्तों आज हम बात करेंगे कि दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल बीमार है बताया जा रहा है कि उनको कल से जब पिछले कुछ समय से हल्का बुखार है


दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल की तबियत खराब , होगा उनका भी क्रोना टेस्ट देखिये कही उनको तो नही है क्रोना वायरस...
Source by:- zeenews
उनको गले में खारिश भी हो रही है दोस्तों अरविंद केजरीवाल का कल भारतीय डॉक्टर क्रोना टेस्ट करेंगे जिसमें यह पता लगाएंगे कि कहीं उनको कोरोना वायरस तो नहीं हो गया है दोस्तों आपको बता दूं कि अरविंद केजरीवाल ने अपनी सारी मीटिंग रद्द कर दी हैं और उनको अगले दिन या कुछ समय के लिए शिफ्ट कर दिया है और अधिक जानकारी के लिए इस पोस्ट को आप बिल्कुल अंत तक पढ़ सकते हैं।


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने आप को अपने ही घर में आइसोलेट 


दिल्ली  के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने आप को अपने ही घर में आइसोलेट कर लिया है और उन्होंने अपनी सारी बैठके रद्द कर दी हैं जिससे वह घर पर आराम कर सकें दिल्ली में अब तक सकर्मकओं की संख्या 24000 के पार पहुंच चुकी है और पिछले दिनों में सतारा सौ के आसपास पहुंच चुकी है और अब तक प्रदेश में लगभग 818 लोगों की मौत हो चुकी है।

आपको बता दूं कि जब अरविंद केजरीवाल स्वस्थ थे तो उन्होंने अपने आसपास के अस्पतालों में केवल दिल्ली वासियों को इलाज करवाने की अनुमति दी है और कोई भी वहां पर इलाज नहीं करवा सकता।

इसी के चलते पूरे देश में भी लगभग करोना के सकर्मक ढाई लाख से ऊपर पहुंच चुके हैं और यह पूरे विश्व में क्रोना  से सर्वाधिक सकर्मक वाला पांचवा देश बन चुका है और आपको बता दूं कि पिछले 5 दिनों में करोना के 50,000 मामले सामने आए हैं और अब तक तकरीबन 7000 लोगों की मौत हो चुकी है और पिछले 5 दिनों में 206 लोगों की भी मौत हो चुकी हैं जिसका सबसे बड़ा कारण है कि लोग डाउन को हटाया जा चुका है।

MUST READ:-5 दिनों में दिखे क्रोना के 50 हजार नए मामले 90 दिन पहले थे सिर्फ 50 हाजर देखिये पूरी खबर..

दोस्तों आपको बता दूं कि जो पिछले दिनों में 206 मौतें हुई हैं वह कहां-कहां पर हुई हैं ताकि आपको सारी जानकारी मिल सके दोस्तों 91 मौतें महाराष्ट्र में हो चुकी हैं 30 से 35 मौतें गुजरात में हो चुकी हैं 15  तमिलनाडु में हो चुके हैं और अब तक 12 से 13 उत्तर प्रदेश में भी हो चुकी हैं लगभग मिलाकर पिछले 5 दिनों में 50000 नए मामले और 206 मौतें हो चुकी हैं जो कि वह देश के लिए काफी दुखदाई बात है।

आपको हमने जो जानकारी दी वह कैसी लगी हमें कमेंट करके बताएं ताकि  हम आपके लिए जो भी अच्छी जानकारी लेकर आएं आपको दे सकें।


THANKS DOSTO 


5 दिनों में दिखे क्रोना के 50 हजार नए मामले 90 दिन पहले थे सिर्फ 50 हाजर देखिये पूरी खबर..

5 दिनों में दिखे क्रोना के 50 हजार नए मामले 90 दिन पहले थे सिर्फ 50 हाजर देखिये पूरी खबर..


हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में आज हम आपके लिए कुछ ऐसी खबर लेकर आए हैं जिसे सुनकर आप चकित रह जाएंगे दोस्तों आपको पता है कि पूरे विश्व में क्रोना ने अपना कहर ढा है और भारत में अब क्रोना ने  विकराल रूप धारण कर लिया है जिसकी वजह से पूरे देश में करोना के सकर्मक बढ़ते जा रहे हैं 

5 दिनों में दिखे क्रोना के 50 हजार नए मामले 90 दिन पहले थे सिर्फ 50 हाजर देखिये पूरी खबर..
Source by:-zeenews
दोस्तों यह रुकने का नाम नहीं ले रहा आपको बता दूं कि बीते दिन में क्रोना  के 10000 मामले सामने आए हैं अब तक की बात की जाए तो पूरे भारत में क्रोना के सकर्मक ढाई लाख से ऊपर हो चुके हैं और इसकी अभी तक कोई भी दवाई नहीं बनी है जिससे इस को रोका जाए आपको बता दूं कि पिछले 5 दिनों में करोना के 50 हजार सकर्मक सामने आए हैं जो की बहुत ही बड़ी बात है किसी भी देश को कुछ नहीं समझ में आ रहा कि इससे कैसे छुटकारा पाया जाए इस पोस्ट को अंत तक अवश्य पढ़े।

 5 दिनों में करोना के 50 हजार सकर्मक सामने आए 

दोस्तों आपको बता दूं क्योंकि 3 जून को क्रोना का आंकड़ा 2 लाख सात हजार था 4 जून को इस आंकड़े में बहुत ही वृद्धि हुई और यह आंकड़ा 200000 सातारा हजार हो गया दोस्तों 5 जून को भी इस आंकड़े में बहुत ही वृद्धि हुई और यह आंकड़ा 222000 हो गया फिर 6 जून को इस आंकड़े में और ज्यादा वृद्धि हो गई यह आंकड़ा 240000 के पास पहुंच गया 7 जून को 256000 के पास पहुंच गया और अब तक रोना के पिछले 5 दिनों में 50,000 सकर्मक हो गए हैं दोस्तों यानी कि हर दिन 10000 सकर्मक सामने आ रहे हैं यह हमारे लिए बहुत ही दुखी घटना है इससे बच के रहना चाहिए।

दोस्तों आपको पता होगा कि हमारे स्वतंत्र भारत में करोना का पहला मामला 30 जनवरी को आया था और 7 मई को लगभग भारत में क्रोना के संक्रमण 50000 थे यानि की दोस्तों लगभग 95 दिनों में क्रोना के सकर्मक 50000 थे

दोस्तों 19 मई को यह आंकड़ा  एक लाख के आसपास पहुंच गया था इस 23 मई को यह आंकड़ा डेढ़ लाख के आसपास पहुंच गया और अब 30 मई को यह आंकड़ा 200000 के पार पहुंच गया है दोस्तों आपको पता होगा कि आज 8 जून है और यह 7 जून को यह आंकड़ा ढाई लाख के करीब पहुंच गया है जो कि अब बढ़ता जा रहा है जिसे रोकना मुश्किल सा दिख रहा है।

MUST READ:-एक ऐसा गाना जिससे सुनके लोग करते है आत्म हत्या, 63 साल से था बैन 

आपको बता दूं कि पूरे भारत में क्रोना के स्क्र्मकों का आंकड़ा 256000 के पास पहुंच गया है और अब तक 7135 लोगों की मौत हो चुकी हैं बहुत से लोग ठीक भी हो चुके हैं जो कि काफी अच्छी बात है कि लोग ठीक होकर भी अपने घर वापसी कर रहे हैं।

दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी में अगर कोई कमी दिखी हो तो हमें कमेंट जरूर करें ताकि हम उसको आगे सुधार सके हैं और आपके लिए अच्छी-अच्छी पोस्ट लिख सकें।

THANKS DOSTO

एक ऐसा गाना जिससे सुनके लोग करते है आत्म हत्या, 63 साल से था बैन इस गाने में है कुछ ऐसा देखिये...

एक ऐसा गाना जिससे सुनके लोग करते है आत्म हत्या, 63 साल से था बैन इस गाने में है कुछ ऐसा देखिये...

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट में जैसे कि आप जानते हैं पूरे विश्व में क्रोना वायरस की वजह से लॉकडौन चल रहा है आज हम आपको एक ऐसी खबर से वाकिफ कराने आए हैं जिसे सुनकर आप चौक जायेंगे जो आपने पहले कभी नहीं सुना होगा दोस्तों आज हम ऐसे गाने की बात कर रहे हैं जिसे सुनकर लोग आत्महत्या कर रहे हैं वह गाना 63 साल से बैन है और वह बहुत ही दुखदाई गाना है और अधिक जानकारी के लिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़े।


एक ऐसा गाना जिससे सुनके लोग करते है आत्म हत्या, 63 साल से था बैन इस गाने में है कुछ ऐसा देखिये...
Source by:- amarujala
दोस्तों जैसा कि बहुत से लोग हैं जिनको गाना गाना पसंद है गाना लिखना पसंद है और गाना गुनगुनाना भी पसंद है अक्सर जब हम कोई सॉन्ग सुन लेते हैं तो हम उसको गुनगुनाते रहते हैं जिससे वह हमारे अंदर रिफिलिंग को जगा सके और जो हमें पसंद आता है हम उसको अपने मन में गुनगुनाते रहते हैं ऐसे ही एक गाना है जिसे सुनकर बहुत से लोगों ने आत्महत्या कर ली हैं उस गाने में आपको बता दूं कि बहुत ही ज्यादा दर्द छुपा हुआ है जो भी इसे सुन लेता है वह अपने दुखों को याद करके आत्महत्या कर लेता है।


धोखे का एहसास हो जाता था परंतु कुछ समय


आपको पता होगा Reszo Seress हंगरी के रहने वाले थे जिन्होंने यह गाना 1933 में बनाया था इस गाने का नाम "सैड संडे" था तब यह बहुत ही ज्यादा फेमस हो गया था पर  इससे बहुत ही ज्यादा लोगों ने सुना था और जब भी लोग इस गाने को सुनते थे 

तो उनको अपने दर्द का धोखे का एहसास हो जाता था परंतु कुछ समय बाद हुआ ऐसा कि इस गाने को सुनकर काफी मात्रा में लोगों ने आत्महत्या करनी शुरू कर दी और फिर इस गाने को बैन कर दिया गया ताकि इसको कोई भी नहीं सुन पाए और जो भी इससे आत्महत्या हुई थी वो रुक जाए

एक समय ऐसा भी आया था जब इस गाने को लोगों ने बहुत ही ज्यादा पसंद किया था और सबका पसंदीदा गाना बन चुका था और इसके राइटर और सिंगर को बहुत ही ज्यादा पब्लिसिटी मिल चुके थे फिर कुछ समय बाद जब लोगों ने आत्महत्या करना शुरू किया तो इस गाने को बैन कर दिया गया और यह सब का पसंदीदा गाना सैड सॉन्ग बनकर रह गया इस गाने को सबसे मनहूस गाना कहा जाता है

आपको जो हमने जानकारी दी है वह कैसी लगी हमें नीचे कमेंट करके बताएं ताकि आपके लिए और भी अच्छे-अच्छे पोस्ट लिख सकें और आपका मनोरंजन कर सकते हैं।


THANKS DOSTO